Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

ओ जी ओ गिरधारी नटवर नागरिया,
थारी नानी बाई को भात भरण ने आओ जी सांवरा

ओ जी ओ गिरधारी नटवर नागरिया,
थारी नानी बाई को भात भरण ने आओ जी सांवरा
ओ जी ओ.....

थारे ही भरोसे आयो सेठ सांवरा,
महारी आज सभा में लाज बचावण आओ जी सांवरा
ओ जी ओ गिरधारी .....

दीनानाथ दयालु थारो नाम हे,
महारी अटकी नया पर लगावण आओजी सांवरा
ओ जी ओ गिरधारी.......

नरसी  भगत न तो थारो आसरो,
महारी आज सभा में मान बढ़ावन आ ओ जी सांवरा
ओ जी ओ गिरधारी.....

ऊबी बाई जोवे थारी बाटड़लि,
थारी नानी बाई ने चुनड़ी उड़ावन आओ जी सांवरा
ओ जी ओ गिरधारी.....

ताराचंद भी सांवरा थारी आश करे
थारे भगता री लाज बचावण जी आओ जी सांवरा



o ji o girdhari natvar nagiya thari nani bhai ko baat bharn ne aaiyo ji sanwara



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं