Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

ओ जी ओ गिरधारी नटवर नागरिया,
थारी नानी बाई को भात भरण ने आओ जी सांवरा

ओ जी ओ गिरधारी नटवर नागरिया,
थारी नानी बाई को भात भरण ने आओ जी सांवरा
ओ जी ओ.....

थारे ही भरोसे आयो सेठ सांवरा,
महारी आज सभा में लाज बचावण आओ जी सांवरा
ओ जी ओ गिरधारी .....

दीनानाथ दयालु थारो नाम हे,
महारी अटकी नया पर लगावण आओजी सांवरा
ओ जी ओ गिरधारी.......

नरसी  भगत न तो थारो आसरो,
महारी आज सभा में मान बढ़ावन आ ओ जी सांवरा
ओ जी ओ गिरधारी.....

ऊबी बाई जोवे थारी बाटड़लि,
थारी नानी बाई ने चुनड़ी उड़ावन आओ जी सांवरा
ओ जी ओ गिरधारी.....

ताराचंद भी सांवरा थारी आश करे
थारे भगता री लाज बचावण जी आओ जी सांवरा



o ji o girdhari natvar nagiya thari nani bhai ko baat bharn ne aaiyo ji sanwara



Bhajan Lyrics View All

मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की