Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

मुरली वाला रे मुरारी मोहन या ले नौकरी थारी,
या ले नौकरी थारी बाबा या ले नौकरी थारी

मुरली वाला रे मुरारी मोहन या ले नौकरी थारी,
या ले नौकरी थारी बाबा या ले नौकरी थारी
मुरली वाला रे मुरारी मोहन.....

मोटो सेठ जानकर थाने करि नौकरी थारी,
मांग्या से  भी देवे कोणी निकल्यो मुंजी भारी
मुरली वाला रे मुरारी मोहन......

रोजीना को खर्चो लगे महँगीवाडो भारी
जमा कारन की नाइ समाई दे दे नौकरी महारी
मुरली वाला रे मुरारी मोहन .......

माँगा जद ही हंस कर टालो या के आदत थारी
खरी मजूरी में भी टोटो आँख दिखावे न्यारी
मुरली वाला रे मुरारी मोहन......

थारे काम में मन नहीं लागे चिंता उठ सवारी
महारे तो कुछ काम न आयी थारी लखदातारी
मुरली वाला रे मुरारी मोहन ......

जगदीशयो थारो दास घणेरो करे नौकरी थारी
तड़के तो में जद आउगा कर सुनाई महारी



murali vala re murari mohan ya le naukari thari



Bhajan Lyrics View All

दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,