Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

मुझे नाम दी मस्ती चढ़ गयी, नी मैं कमली हो गयी।
मैं नाच नाच माँ दे दर गयी, मैं कमली हो गयी॥

मुझे नाम दी मस्ती चढ़ गयी, नी मैं कमली हो गयी।
मैं नाच नाच माँ दे दर गयी, मैं कमली हो गयी॥

मेनू लोकी देंदे ताने, नी तू चल्ली हो गयी,
सारी दुनिया इक पासे नी, तू कल्ली हो गयी।
मैं कल्ली नहीं लोको मेरे नाल है माई,
जिस दे नाल है माई, उस दे नाल खुदाई॥

सुन कमली दिए माइये नी मैं योगं हो गयी,
मेनू लगेया रोग अवलडा नी मैं रोगन होई।
मेनू ठीक करेगी आपे, जीने रोग है लाया,
मेरी झंडेयां वाली माँ डा किसे भेत ना पाया॥

मैंने कुज नहीं सुझदा माये नी मेनू रस्ते पादे,
करमा वालिये, मेरे ते वी करम कमादे।
राधे वांगु ही बन गयी मेरी कहानी,
ओह श्याम दीवानी सी माँ, मैं तेरी दीवानी॥

मेरा चंचल चित्त यह दाती किते भटन ना जाये,
मेरी मस्ती जग्दिया अखन च भटक ना जाये।
मेनू अपने रंग विच रंग ले चरना विच थां दे,



mujhe naam di masti chad gayi durga bhajan



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली