Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

मुझे नाम दी मस्ती चढ़ गयी, नी मैं कमली हो गयी।
मैं नाच नाच माँ दे दर गयी, मैं कमली हो गयी॥

मुझे नाम दी मस्ती चढ़ गयी, नी मैं कमली हो गयी।
मैं नाच नाच माँ दे दर गयी, मैं कमली हो गयी॥

मेनू लोकी देंदे ताने, नी तू चल्ली हो गयी,
सारी दुनिया इक पासे नी, तू कल्ली हो गयी।
मैं कल्ली नहीं लोको मेरे नाल है माई,
जिस दे नाल है माई, उस दे नाल खुदाई॥

सुन कमली दिए माइये नी मैं योगं हो गयी,
मेनू लगेया रोग अवलडा नी मैं रोगन होई।
मेनू ठीक करेगी आपे, जीने रोग है लाया,
मेरी झंडेयां वाली माँ डा किसे भेत ना पाया॥

मैंने कुज नहीं सुझदा माये नी मेनू रस्ते पादे,
करमा वालिये, मेरे ते वी करम कमादे।
राधे वांगु ही बन गयी मेरी कहानी,
ओह श्याम दीवानी सी माँ, मैं तेरी दीवानी॥

मेरा चंचल चित्त यह दाती किते भटन ना जाये,
मेरी मस्ती जग्दिया अखन च भटक ना जाये।
मेनू अपने रंग विच रंग ले चरना विच थां दे,



mujhe naam di masti chad gayi durga bhajan



Bhajan Lyrics View All

कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।