Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

मुझे मस्ती चढ़ गयी नाम की मुझे मस्ती चढ़ गयी ॥
जब मस्ती चढ़ गयी नाम की, फिर ये दुनिया किस काम की

मुझे मस्ती चढ़ गयी नाम की मुझे मस्ती चढ़ गयी ॥
जब मस्ती चढ़ गयी नाम की, फिर ये दुनिया किस काम की
मुझे मस्ती चढ़ गयी नाम की मुझे मस्ती चढ़ गयी॥

बिन मस्ती के मैया जी कोई भेटें गा नहीं पायेगा॥,
भेटें गा नहीं पायेगा,भेटें गा नहीं पायेगा
हो कोई लिख नहीं पायेगा और कोई गा नहीं पायेगा॥,
कोई गा नहीं पायेगा, कोई गा नहीं पायेगा
ओ मां के नाम की मस्ती भक्तों, ओ मां के नाम की मस्ती भक्तों,
इतनी नहीं है सस्ती
मुझे मस्ती चढ़ गयी नाम की मुझे मस्ती चढ़ गयी

मस्ती चढ़ गयी राधा जी को मिल गए मोहन प्यारे॥,
मिल गए मोहन प्यारे, मिल गए मोहन प्यारे,
ओ राधा के संग मोहन लगते सबको बड़े ही प्यारे,
सबको बड़े ही प्यारे, लगते सबको बड़े ही प्यारे
ओ मां के नाम की मस्ती भक्तों, मां के नाम की मस्ती भक्तों,
यहीं पे है बस मिलती
मुझे मस्ती चढ़ गयी नाम की मुझे मस्ती चढ़ गयी

ओ भक्ति की मस्ती में ध्यानु ने भी शीश चढ़ाया॥,  
ध्यानु ने शीश चढ़ाया, मां ध्यानु ने शीश चढ़ाया,
ओ पवान्स्वरूपा मां ने आ के उसका शीष मिलाया,
उसका शीष मिलाया, मां ने उसका शीष मिलाया
ओ बन गया ध्यानु माँ का लाडला, उसकी बन गयी हस्ती
मुझे मस्ती चढ़ गयी नाम की मुझे मस्ती चढ़ गयी

जब मस्ती चढ़ गयी नाम की, फिर ये दुनिया किस काम की
मुझे मस्ती चढ़ गयी नाम की मुझे मस्ती चढ़ गयी
मुझे मस्ती चढ़ गयी नाम की मुझे मस्ती चढ़ गयी



muje masti chad gi naam ki muje masti chad gi jab masti chad gi naam ki phir yeh duniya kis kam ki



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।