Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

मेला मेला मेला,
बाबा बालक नाथ दा मेला॥

मेला मेला मेला,
बाबा बालक नाथ दा मेला॥
भगता दा रखवाला
बाबा मस्त मलंग अलबेला॥
मेला मेला मेला..........

मेला देखन शिव जी अवे
पारवती नु संग ॥
नंदी बन गया चेला,
आया पौनाहारी दा मेला
मेला मेला मेला.......


मेला देखन विष्णु जी आये॥
लक्ष्मी माँ नु नाल लाइए ॥
नारद बन गया चेला,
आया पौनाहारी दा मेला
मेला मेला मेला.......

मेला देखन राम जी अये॥
सीता जी नु नाल लाइए॥
बजरंगी बन गया चेला
आया पौनाहारी दा मेला
मेला मेला मेला.......

मेला देखन भरमा जी आये॥
सरस्वती नु नाल लाइए॥
हस उड़े अनबेला
आया पौनाहारी दा मेला
मेला मेला मेला ........

मेला देखन कृष्ण जी अये॥
राधा जी नु नाल लाइए॥
दाऊ बन गया चेला
आया पौन्हारी दा मेला
मेला मेला मेला ..........

मेला देखन गनपत जी अये॥
रिधि शिदी नु नाल लाइए॥
मुशक बन गया चेला
आया पौनाहारी दा मेला
मेला मेला मेला.......

ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ,
ਬਾਬਾ ਬਾਲਕ ਨਾਥ ਦਾ ਮੇਲਾ॥
ਭਗਤਾਂ ਦਾ ਰਖਵਾਲਾ,
ਬਾਬਾ ਮਸਤ ਮਲੰਗ ਅਲਬੇਲਾ ॥
ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ,,,,,,,,,,,,,,,,,

ਮੇਲਾ ਦੇਖਣ ਸ਼ਿਵ ਜੀ ਆਏ ॥
ਪਾਰਵਤੀ ਨੂੰ ਸੰਗ ਲਿਆਏ ॥
ਨੰਦੀ ਬਣ ਗਿਆ ਚੇਲਾ,
ਆਇਆ ਪੌਣਹਾਰੀ ਦਾ ਮੇਲਾ
ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ,,,,,,,,,,,,,,,,,

ਮੇਲਾ ਦੇਖਣ ਵਿਸ਼ਨੂੰ ਜੀ ਆਏ ॥
ਲਕਸ਼ਮੀ ਮਾਂ ਨੂੰ ਨਾਲ ਲਿਆਏ ॥
ਨਾਰਦ ਬਣ ਗਿਆ ਚੇਲਾ,
ਆਇਆ ਪੌਣਹਾਰੀ ਦਾ ਮੇਲਾ
ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ,,,,,,,,,,,,,,,,,

ਮੇਲਾ ਦੇਖਣ ਰਾਮ ਜੀ ਆਏ ॥
ਸੀਤਾ ਜੀ ਨੂੰ ਨਾਲ ਲਿਆਏ ॥
ਬਜਰੰਗੀ ਬਣ ਗਿਆ ਚੇਲਾ,
ਆਇਆ ਪੌਣਹਾਰੀ ਦਾ ਮੇਲਾ
ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ,,,,,,,,,,,,,,,,,

ਮੇਲਾ ਦੇਖਣ ਬ੍ਰਹਮਾ ਜੀ ਆਏ ॥
ਸਰਸਵਤੀ ਨੂੰ ਨਾਲ ਲਿਆਏ ॥
ਹੰਸ ਉੜੇ ਅਲਬੇਲਾ,
ਆਇਆ ਪੌਣਹਾਰੀ ਦਾ ਮੇਲਾ
ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ,,,,,,,,,,,,,,,,,

ਮੇਲਾ ਦੇਖਣ ਕ੍ਰਿਸ਼ਨ ਜੀ ਆਏ ॥
ਰਾਧਾ ਜੀ ਨੂੰ ਨਾਲ ਲਿਆਏ॥
ਦਾਊਂ ਬਣ ਗਿਆ ਚੇਲਾ,
ਆਇਆ ਪੌਣਹਾਰੀ ਦਾ ਮੇਲਾ
ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ ਮੇਲਾ,,,,,,,,,,,,,,,,,

ਮੇਲਾ ਦੇਖਣ ਗਣਪਤੀ ਜੀ ਆਏ ॥
ਰਿੱਧੀ ਸਿੱਧੀ ਨੂੰ ਨਾਲ ਲਿਆਏ ॥
ਮੂਛਕ ਬਣ ਗਿਆ ਚੇਲਾ,
ਆਇਆ ਪੌਣਹਾਰੀ ਦਾ ਮੇਲਾ



mela mela mela baba balak nath da mela



Bhajan Lyrics View All

तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये