Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

कान्हा बेदर्दी है, राधा खत लिखती हैं ॥
जब से गये तुम मथुरा को, भूल गए तुम राधा को ॥

कान्हा बेदर्दी है, राधा खत लिखती हैं ॥
जब से गये तुम मथुरा को, भूल गए तुम राधा को ॥
तेरी जुदाई ये कान्हा ॥ अब सही ना जाती है
अब तो आजा मोहन तेरी याद सताती है ॥
तेरी याद सताती है, राधा खत लिखती हैं ॥

तेरी याद में मोरनी रोये, पंख ये फैलाये ॥
भूखे डोले गईया बछङे, घास नहीं खाये ॥
अब तो आजा कान्हा तेरी, गायें भटकती है
अब तो आजा मोहन तेरी याद सताती है॥
तेरी याद सताती है राधा खत लिखती हैं ॥

जिनके साथ तुम खेले मोहन, लट्ठ मार होली ॥
दुःखी हो गई वो गुजरिया, ग्वलों की टोली ॥
तेरे बिना ये कुँज गलियां, वीरानी लगती है
अब तो आजा मोहन, तेरी याद सताती है ॥
तेरी याद सताती है, राधा खत लिखती हैं ॥

अब तो इस डगरे में ना कोई, ग्वालन आती है ॥
दही बेचने वाली कोई नजर न आती है॥
तेरे बिना ओ कान्हा सब, गोपियां रोती है
अब तो आजा मोहन तेरी याद सताती है ॥
तेरी याद सताती है, राधा खत लिखती हैं

आजा मोहन प्यारे क्यूं तुम, देर लगाते हो ॥
अपनी राधा रानी को तुम, क्यूँ तङपाते हो ॥
तेरी याद में मैया, दिन रात तङपती है
अब तो आजा मोहन, तेरी याद सताती है ॥
तेरी याद सताती है, राधा खत लिखती हैं ॥

कान्हा बेदर्दी है, राधा खत लिखती हैं
तेरी याद सताती है, राधा खत लिखती हैं



Kanha Berardi he radha khat likhti hai



Bhajan Lyrics View All

मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka