Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

कहीं परहो श्यामसांवरा, कही कन्हैया बनके ,
कहीं पे हो मुरलीवाला, कहीं गिरवर धरके..

कहीं परहो श्यामसांवरा, कही कन्हैया बनके ,
कहीं पे हो मुरलीवाला, कहीं गिरवर धरके..
कितने कितने नाम तुम्हारें, कितने प्यारे धाम रेे

वृंदावन में आन बसे हो , राधेरानी संग में,  
द्वारीका में आप प्रभूजी, चक्र सुदर्शन कर में-॥
गोकुल मथुरा आये सबके प्यारे कान्हा बनके...


माखन चोर है कहता कोई, गैय्या का रखवाल रे..
मोर मकुट बंसीधरगिरधर,राधेके गोपाल रे-॥
नैणो से जादु करता देखो छलिया चलके...

कलयुग में अवतार लिया श्रीरामदेव कुहाये हो,
खाटु में हारे के सहारे,जय श्रीश्याम गुंजायें हो-॥
श्रीनाथजी शीश झुकाऊराचि चाकर बनके...

B W.....
S- R CराचिD



kahi pe ho shyam saanwra kahi kanahiya banke kahi pe ho murlivala kahi girivar dharke



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे