Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

श्याम आया रे घनश्याम आया रे...
झुला झुलो री राधा रानी झुलाने तेरा श्याम आया रे ।

श्याम आया रे घनश्याम आया रे...
झुला झुलो री राधा रानी झुलाने तेरा श्याम आया रे ।
श्याम आया श्याम आया श्याम आया रे ॥

सावन की बरसे है रिमझिम बदरिया,
रिमझिम बदरिया रिमझिम बदरिया ।
तेरी चुनरिया भिगोने ओ राधे तेरा श्याम आया रे ॥
श्याम आया श्याम आया श्याम आया रे,
झुला झुलो रे राधा रानी झुलाने तेरा श्याम आया रे ॥

रेशम की डोरी है चांदी का झुला,
चांदी का झुला, चांदी का झुला ।
झूले पे तुझको बैठाने ओ राधे तेरा श्याम आया रे ॥
श्याम आया श्याम आया श्याम आया रे,
झुला झुलो रे राधा रानी झुलाने तेरा श्याम आया रे ॥

कान्हा के हाथों में साजे मुरलिया,
साजे मुरलिया, साजे मुरलिया ।
मुरली की तान सुनाने ओ राधे तेरा श्याम आया  रे ॥
श्याम आया श्याम आया श्याम आया रे,
झुला झुलो रे राधा रानी झुलाने तेरा श्याम आया रे ॥

हर्ष बुलाये तेरा प्रियतम ओ सजनी,
प्रियतम ओ सजनी, प्रियतम ओ सजनी ।
मधुबन में रास रचाने ओ राधे तेरा श्याम आया  रे ॥
श्याम आया श्याम आया श्याम आया रे,



jhula jhulo ri radhe raani jhulane tera shyaam aaya re



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये