Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

हम भी चले आये हैं कान्हा तेरे गाँव में
तु रखना लेने मुझको चरणों की छाँव में

हम भी चले आये हैं कान्हा तेरे गाँव में
तु रखना लेने मुझको चरणों की छाँव में
बस इतनी अर्जी तुम मेरी स्वीकार कर लेना
गोदी में बीठा साँवरिया थोड़ा प्यार कर लेना

तुम जग के दाता हो मेरे भाग्य विधाता हो
तुम सब पर कृपा करो जो तुम्हें मनाता हो
मैं तेरी शरण आया सिर हाथ धर देना    
गोदी में बीठा साँवरिया थोड़ा प्यार कर लेना

खाता हूँ कसम कान्हा वापस ना जाऊंगा
इकरार करूँ दर पे मैं यहीं अड़ जाऊंगा
दुनियां से मांग लिया अब तुझसे ही लेना
गोदी में बीठा साँवरिया थोड़ा प्यार कर लेना

इस तेरे बावरे का रिश्ता ये पुराना है
मैंने ढूंढ लिया सुनले चरणों में ठिकाना है
मेरा हाथ जोड़ तुमसे बस अब इतना ही कहना
गोदी में बीठा साँवरिया थोड़ा प्यार कर लेना



hum bhi chale aaye hain kahna tere gaavn me godi me bitha saanwariya thoda pyar kar lena



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा