Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

हम भी चले आये हैं कान्हा तेरे गाँव में
तु रखना लेने मुझको चरणों की छाँव में

हम भी चले आये हैं कान्हा तेरे गाँव में
तु रखना लेने मुझको चरणों की छाँव में
बस इतनी अर्जी तुम मेरी स्वीकार कर लेना
गोदी में बीठा साँवरिया थोड़ा प्यार कर लेना

तुम जग के दाता हो मेरे भाग्य विधाता हो
तुम सब पर कृपा करो जो तुम्हें मनाता हो
मैं तेरी शरण आया सिर हाथ धर देना    
गोदी में बीठा साँवरिया थोड़ा प्यार कर लेना

खाता हूँ कसम कान्हा वापस ना जाऊंगा
इकरार करूँ दर पे मैं यहीं अड़ जाऊंगा
दुनियां से मांग लिया अब तुझसे ही लेना
गोदी में बीठा साँवरिया थोड़ा प्यार कर लेना

इस तेरे बावरे का रिश्ता ये पुराना है
मैंने ढूंढ लिया सुनले चरणों में ठिकाना है
मेरा हाथ जोड़ तुमसे बस अब इतना ही कहना
गोदी में बीठा साँवरिया थोड़ा प्यार कर लेना



hum bhi chale aaye hain kahna tere gaavn me godi me bitha saanwariya thoda pyar kar lena



Bhajan Lyrics View All

श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार