Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,
गुरा जी दा नाम लेके, जिंदगी गुजारी जा

हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,
गुरा जी दा नाम लेके, जिंदगी गुजारी जा

भरेया मेला चार दीना दा,आखिर खाली होना है,
सुख में फिर क्यूँ हँसता मूरख,,दुःख में फिर क्यूँ रोना है,
हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,
गुरा जी दा नाम लेके जिंदगी गुजारी जा

सुख में तेरा हर कोई साथी,दुःख में तेरा कोई भी ना,
इसी लिए फिर मूरख बन्दे, सतगुरा नु भूली ना,
हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,
गुरा जी दा नाम लेके जिंदगी गुजारी जा

जब तक तन में प्राण है बन्दे, काम से फुर्सत पाये ना,
पाप करम तू करता जाए, हरी को बिलकुल ध्याये ना,
हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,
गुरा जी दा नाम लेके जिंदगी गुजारी जा

बीत गया सो पछतायेगा, वेला मुड़ ना आवना है,
औखे वेले कम आवेगा, नाम प्रभु का ध्याना है,
हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,



has ke gujari ja tane sahari ja radhaswami shabad with hindi lyrics



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने