Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,
गुरा जी दा नाम लेके, जिंदगी गुजारी जा

हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,
गुरा जी दा नाम लेके, जिंदगी गुजारी जा

भरेया मेला चार दीना दा,आखिर खाली होना है,
सुख में फिर क्यूँ हँसता मूरख,,दुःख में फिर क्यूँ रोना है,
हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,
गुरा जी दा नाम लेके जिंदगी गुजारी जा

सुख में तेरा हर कोई साथी,दुःख में तेरा कोई भी ना,
इसी लिए फिर मूरख बन्दे, सतगुरा नु भूली ना,
हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,
गुरा जी दा नाम लेके जिंदगी गुजारी जा

जब तक तन में प्राण है बन्दे, काम से फुर्सत पाये ना,
पाप करम तू करता जाए, हरी को बिलकुल ध्याये ना,
हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,
गुरा जी दा नाम लेके जिंदगी गुजारी जा

बीत गया सो पछतायेगा, वेला मुड़ ना आवना है,
औखे वेले कम आवेगा, नाम प्रभु का ध्याना है,
हस के गुजारी जा ताने सहारी जा,



has ke gujari ja tane sahari ja radhaswami shabad with hindi lyrics



Bhajan Lyrics View All

राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा