Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

हर युग में तेरा ही वास रहे,
यह बंदा तेरे चरणों का दास रहे ।

हर युग में तेरा ही वास रहे,
यह बंदा तेरे चरणों का दास रहे ।

श्याम से अपना अटूट हैं बंधन, कोई तोड़ ना पाए,
नहीं घबराता दिल मेरा चाहे कैसा भी वक़्त आए ।
तेरे चरणों में मेरी सुबह और श्याम रहे,
यह बंदा तेरे चरणों का दास रहे ॥

दाताओं का दाता है यह, देता है बिन बोले,
तेरी भी झोली भर देगा जो श्याम नाम मुख से बोले ।
मेरे दिल की हर धड़कन में तेरा ही नाम रहे,
यह बंदा तेरे चरणों का दास रहे ॥

घट घट वासी सांवरी है यह खींचे अपनी और रे,
सबको दीवाना करदेता यह वृंदावन चित्त चोर रे ।
हर जनम में तेरी भक्ति की ही आस रहे, सोनू संदीप तेरे चरणों के दास रहे,



har yug me tera hi vaas rahe yeh banda tere charno ka das rahe



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया