Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

हारे का तू है सहारा सांवरे, हमने भी तुझको पुकारा सांवरे,
नहीं और सहा जाये, हम बोल कहाँ जाये

हारे का तू है सहारा सांवरे, हमने भी तुझको पुकारा सांवरे,
नहीं और सहा जाये, हम बोल कहाँ जाये

हमे अपनी आँखों से दूर नहीं करना,
हम रो पड़ेंगे मजबूर नहीं करना ।
अपनों के सताए है, तेरी शरण में आये है
हारे का तू है सहारा सांवरे...

हम है कितने हारे, परछाई कह रही है,
आँखों से दिल की सच्चाई बह रही है ।
ये नीर जो बहता है, रो रो के कहता है,
हारे का तू हैं सहारा सांवरे...

कितने भी हमपे हँसे ये जमाना,
‘संजू’ कन्हैया से नाता है पुराना,
संतोष यही मन में तुम हो मेरे जीवन में,



haare ka tu hai sahara sanware hune bhi tujhko pukara saanware



Bhajan Lyrics View All

मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की