Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

गोविन्द गोपाल गाइये जी
भजो नन्द के लाल नित्य गाइये जी

गोविन्द गोपाल गाइये जी
भजो नन्द के लाल नित्य गाइये जी

मुरलीधरा मोहन मदन मुरारी
बंशीधर ब्रजराज बांके बिहारी
हिरदय में हरी को बसाइये जी
भजो नन्द के लाल नित्य गाइये जी

राधा रमन हरी गोविन्द जय जय
गोविन्द जय जय गोपाल जय जय

गोकुलेश गोपीनाथ गोवर्धन धारी
कृष्णा कलाकुंज काली मनहारी
चरणो में चित्त लगाइये जी
भजो नन्द के लाल नित्य गाइये जी
गोविन्द गोपाल गाइये जी

ओम नमो भगवते वासुदेवाय
वासुदेवाय मेरो कृष्णा चन्द्राय

दामोदर दीन दयाल दुखहारी
भयभव मोचन भगतन हितकारी
हरे कृष्ण कृष्ण दोहराइए जी  
भजो नन्द के लाल नित्य गाइये जी
गोविन्द गोपाल गाइये जी

राधा रमन हरी गोविन्द जय जय
गोविन्द जय जय गोपाल जय जय

नन्द किशोर नवनीत नटनागर
श्याम स्वरुप हे सत्य सुख सागर
कबहुँ न नाम बिसराइये जी
भजो नन्द के लाल नित्य गाइये जी
गोविन्द गोपाल गाइये जी

संपर्क - +



govind gopal gaaiye ji bhajo nand ke laal nitya gaiye ji



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।