Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

गोविन्द चले आओ, गोपाल चले आओ
हे मुरलीधर मोहन मेरे श्याम चले आओ

गोविन्द चले आओ, गोपाल चले आओ
हे मुरलीधर मोहन मेरे श्याम चले आओ

मेरी नाव भावर में है, और दूर किनारा है
तुम बिन ना कोई दूजा प्रभु और सहारा है
बन कर के माझी तुम मेरी और चले आओ
गोविन्द चले आओ...

मेरे दिल की धड़कन में बस तू ही समाया है
ऐ दिलबर मेरे दिल को, तेरा नूर ही भाया है
मेरे आशिआने में इक बार चले आओ
गोविन्द चले आओ...

तुम सुख के सागर हो कण कण में समाए हो
हे प्राण प्रिय तुम तो मेरे दिल में समाए हो
पल पल है पुकारा तुम्हे, श्री कृष्ण चले आओ
गोविन्द चले आओ...

कोई संगी नहीं साथी जीवन में अकेला हूँ
बस तुझसे लगन है लगी, मैं इक अलबेला हूँ
‘हरी राम’ पुकारे तुझे वासुदेव चले आओ
गोविन्द चले आओ...



ਗੋਵਿੰਦ ਚਲੇ ਆਓ ਗੋਪਾਲ ਚਲੇ ਆਓ
ਹੇ ਮੁਰਲੀਧਰ ਮੋਹਨ, ਮੇਰੇ ਸ਼ਿਆਮ ਚਲੇ ਆਓ
ਗੋਵਿੰਦ ਚਲੇ ਆਓ...

ਮੇਰੀ ਨਾਵ ਭੰਵਰ ਮੇ ਹੈ, ਔਰ ਦੂਰ ਕਿਨਾਰਾ ਹੈ
ਤੁਮ ਬਿਨ ਨਾ ਕੋਈ ਦੂਜਾ, ਪ੍ਰਭੂ ਔਰ ਸਹਾਰਾ ਹੈ
ਬਣ ਕਰਕੇ ਮਾਂਝੀ ਤੁਮ, ਮੇਰੀ ਔਰ ਚਲੇ ਆਓ
ਗੋਵਿੰਦ ਚਲੇ ਆਓ...

ਮੇਰੇ ਦਿਲ ਕੀ ਧੜਕਣ ਮੇ, ਬਸ ਤੂੰ ਹੀ ਸਮਾਇਆ ਹੈ
ਐ ਦਿਲਬਰ ਮੇਰੇ ਦਿਲ ਕੋ, ਤੇਰਾ ਨੂਰ ਹੀ ਭਾਇਆ ਹੈ
ਮੇਰੇ ਆਛਿਆਨੇ ਮੇ, ਏਕ ਬਾਰ ਚਲੇ ਆਓ
ਗੋਵਿੰਦ ਚਲੇ ਆਓ...

ਤੁਮ ਸੁੱਖ ਕੇ ਸਾਗਰ ਹੋ, ਕਣ ਕਣ ਮੇ ਸਮਾਏ ਹੋ
ਹੇ ਪ੍ਰਾਨ ਪ੍ਰਿਅ ਤੁਮ ਤੋਂ, ਮੇਰੇ ਦਿਲ ਮੇ ਸਮਾਏ ਹੋ
ਪਲ ਪਲ ਹੈ ਪੁਕਾਰਾ ਤੁਝੇ, ਸ਼੍ਰੀ ਕ੍ਰਿਸ਼ਨ ਚਲੇ ਆਓ
ਗੋਵਿੰਦ ਚਲੇ ਆਓ...

ਕੋਈ ਸੰਗੀ ਨਹੀਂ ਸਾਥੀ, ਜੀਵਨ ਮੇ ਅਕੇਲਾ ਹੂੰ
ਬੱਸ ਤੁਝਸੇ ਲਗਨ ਹੈ ਲਗੀ, ਮੈਂ ਇੱਕ ਅਲਬੇਲਾ ਹੂੰ
‘ਹਰਿ ਰਾਮ’ ਪੁਕਾਰੇ ਤੁਝੇ, ਵਾਸੁਦੇਵ ਚਲੇ ਆਓ
ਗੋਵਿੰਦ ਚਲੇ ਆਓ...



govind chale aao gopal chale aao



Bhajan Lyrics View All

साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा