Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

उठ कै देइ ए बरोड़ गुजरी ,
ए वेला तेरे हथ नहीं आउना ,

उठ कै देइ ए बरोड़ गुजरी ,
ए वेला तेरे हथ नहीं आउना ,
खर्चेगी लाख-करोड़ गुजरी, ए वेला तेरे हथ नहीं आउना

काहे दी मटकी, काहे दी मधानी,
काहे दी लाइ ए डोर गुजरी,
ए वेला तेरे हथ नहीं आउना ।

तन दी मटकी, मन दी मधानी,
सूरत-शब्द की ये डोर गुजरी,
ए वेला तेरे हथ नहीं आउना ।

सत्संग दा तू जाग लगाईं लै,
जे तैनू वाखन दी लोड़ गुजरी,
ए वेला तेरे हथ नहीं आउना ।

एसा दिया जो तू देइ कर बरोड़ी,
माखन लेंगी बरोड़ गुजरी,
ए वेला तेरे हथ नहीं आउना ।

नाम अमिरस चाखन चाहे,
मन विषया कोड़ो मोड़ गुजरी,
ए वेला तेरे हथ नहीं आउना ।

कहत कबीर सुनो भाई साधो ,
गुर चरना चित जोड़ गुजरी,
ए वेला तेरे हथ नहीं आउना ।

उठ कै देइ ए बरोड़ गुजरी,
ए वेला तेरे हथ नहीं आउना,



eh vela tere hath nahi auna Radhaswami Shabad with Hindi lyrics



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।