Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

द्वापर मे जनम जो पाय लेंती कान्हा तेरे आगे,
कान्हा तेरे आगे - कान्हा तेरे आगे

द्वापर मे जनम जो पाय लेंती कान्हा तेरे आगे,
कान्हा तेरे आगे - कान्हा तेरे आगे
द्वापर मे जनम जो पाय लेंती कान्हा तेरे आगे,

मनमोहन मुरली वाले, कर लेंती दर्श तुम्हारे,
होते बड़े भाग्य हमारे ,
तोय मन मे कतई बसा लेंती कान्हा तेरे आगे,
द्वापर मे जनम जो पाय लेंती कान्हा तेरे आगे,

गोपी बन गाय चराती, मुख ते सही माखन खाती,
मेरी सब ब्याधा कट जाती,
यमुना में मैं भी नहाय लेंती कान्हा तेरे आगे !!
द्वापर मे जनम जो पाय लेंती कान्हा तेरे आगे,

छल-कपट कछु ना रेह्तो, सुख सागर मन मे बेह्तो ,
मोते भलो बुरो ना केहतो ,
तोय दिल मे कतई बसा लेंती कान्हा तेरे आगे,
द्वापर मे जनम जो पाय लेंती कान्हा तेरे आगे,

यों रामचंद्र ते कहके, हरि प्रेम दीवानी होके ,
तेरे चरणों की रज लेके ,
माथे पे तिलक लगा लेंती, कान्हा तेरे आगे,



dwapar me janam jo pay leti kanha tere agge



Bhajan Lyrics View All

कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं