Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

देना हो तो झुंझनवाली दे इतना वरदान
अंत समय मेरी जुबां से निकले तेरा नाम

देना हो तो झुंझनवाली दे इतना वरदान
अंत समय मेरी जुबां से निकले तेरा नाम
नमो नारायणी... नमो नारायणी...
नमो नारायणी... नमो नारायणी...

खो जाऊं जब पांच तत्त्व में,
हो वो झुंझनू धाम...
अंत समय मेरी जुबां से निकले तेरा नाम
नमो नारायणी... नमो नारायणी...
नमो नारायणी... नमो नारायणी...

बिन मांगे सब कुछ देकर दया दिखाई है दादी
पल-पल साथ मेरा देकर लाज बचाई है दादी
एक नहीं लाखो मुझपर है तेरा एहसान
अंत समय मेरी जुबां से निकले तेरा नाम
नमो नारायणी....नमो नारायणी....
नमो नारायणी....नमो नारायणी....

नाम तुम्हारा ले लेकर हुआ मुझे एहसास यही
खुश रहता है भगत तेरा
रहता कभी उदास नही
नाम तुम्हारा कर देता हर मुश्किल आसान
अंत समय मेरी जुबां से निकले तेरा नाम
नमो नारायणी....नमो नारायणी....
नमो नारायणी....नमो नारायणी....

जिस दिन निकले प्राण मेरा
सामने हो तस्वीर तेरी
मुख पर तेरा नाम हो
लिख ऐसी तक़दीर मेरी
दादी अपने सेवक का कर इतना सा काम
अंत समय मेरी जुबां से निकले तेरा नाम
नमो नारायणी....नमो नारायणी....
नमो नारायणी....नमो नारायणी....



dena ho to jhunjhan wali de itna vardaan namo narayni rani sati dadi bhajan by Saurabh Madhukar



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा