Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

चिंता हो ना भय हो, राधा रानी की जय हो,
ऊँची अटारी वारी प्यारी की जय हो ।

चिंता हो ना भय हो, राधा रानी की जय हो,
ऊँची अटारी वारी प्यारी की जय हो ।

रे मन मूरख चिंता न कर जप ले राधा राधा,
कोटि जनम की विपदा काटे राधा नाम यह आधा ।
हरी प्रकट हो ऐसी नाम खुमारी की जय हो,
चिंता हो ना भय हो, राधा रानी की जय हो ॥

जप तप सयम ना जानू, ना जानू कोई पूजा,
एक भरोसा श्री कुंवारी को, नाही कोई दूजा ।
शुक नारद भी गाये महिमा नयारी की जय हो,
चिंता हो ना भय हो, राधा रानी की जय हो ॥

जिनकी कृपा से वृन्दावन में मोहन मुरली बजाई,
टेड़े कदम के आगे खाडे, मुरली मधुर बजाई ।
ऐसो रस बरसाने वारी की जय हो,
चिंता हो ना भय हो, राधा रानी की जय हो ॥

'हरी दासी’ सब छोड़ झमेले, बरसाने चली आना,
संतो के चरणो में जा के सांचो भाव जगाना ।
कोटि चद्र रूप उज्जयारी की जय हो,
चिंता हो ना भय हो, राधा रानी की जय हो ॥


राधा रानी की जय, राधा रानी की जय
बोलो रस बरसाने वारी की जय
बोलो ऊँची अटारी वारी प्यारी की जय



chinta ho na bhay ho radha rani ki jay ho



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
बृज के नंदलाला राधा के सांवरिया,
सभी दुःख दूर हुए, जब तेरा नाम लिया।