Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

अंगना में आओगे कन्हैया तोहे मैं जाने ना दूंगी
जाने ना दूंगी तोहे, जाने ना दूंगी

अंगना में आओगे कन्हैया तोहे मैं जाने ना दूंगी
जाने ना दूंगी तोहे, जाने ना दूंगी
अंगना में आओगे सावंरिया तोहे मैं जाने ना दूंगी

अंगना मैं आओगे तो माखन मैं खिलाउंगी
माखन मैं खिलाउंगी तोहे मैं रिझाउंगी
माखन की भरी है मटकिया तोहे मैं जाने ना दूंगी

अंगना मैं आओगे तो दही मैं खिलाउंगी
दही मैं खिलाउंगी तोहे मैं रिझाउंगी
दही की भरी है मटकिया तोहे मैं जाने ना दूंगी

अंगना मैं आओगे तो राधा से  मिलाउंगी
राधा से  मिलाउंगी तोहे मैं रिझाउंगी
संग मैं होंगी सखिया तोहे मैं जाने ना दूंगी

अंगना मैं आओगे तो ग्वालो से मिलाउंगी
ग्वालो से मिलाउंगी,  तोहे मैं रिझाउंगी
संग मैं होंगी गैया तोहे मैं जाने ना दूंगी

अंगना मैं आओगे तो सत्संग मैं कराउंगी  
सत्संग मैं कराउंगी, तोहे मैं रिझाउंगी



angnaa main aaoge saawaria



Bhajan Lyrics View All

सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥