Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

आयो सखियो मेरा बनवारी
आयो सखियो मेरा बनवारी

आयो सखियो मेरा बनवारी
आयो सखियो मेरा बनवारी

मेरे बनवारी का माथा बड़ा सोहना
मुकुटां दे नाल सजाया सखियो मेरा बनवारी
आयो सखियो मेरा बनवारी

मेरे बनवारी दी आँख बड़ी सोहनी
कजरे दे नाल सजाया सखियो मेरा बनवारी
आयो सखियो  मेरा बनवारी

मेरे बनवारी दे कन बड़े सोहने
कुंडला दे नाल सजाया सखियो मेरा बनवारी
आयो सखियो मेरा बनवारी

मेरे बनवारी दे होंठ बड़े सोहने
बंसरी दे नाल सजाया सखियो मेरा बनवारी
आयो सखियो मेरा बनवारी

मेरे बनवारी का गला बड़ा सोहना
हार दे नाल सजाया सखियो मेरा बनवारी
आयो सखियो मेरा बनवारी

मेरे बनवारी दे हाथ बड़े सोहने
गजरे दे नाल सजाया सखियो मेरा बनवारी
आयो सखियो मेरा बनवारी

मेरे बनवारी दा लक बड़ा सोहना
पितम्बरन दे नाल सजयो सखियो मेरा बनवारी
आयो सखियो  मेरा बनवारी

मेरे बनवारी दे पैर बड़े सोहने
पायल दे नाल सजाया सखियो मेरा बनवारी
आयो सखियो मेरा बनवारी

मेरा बनवारी ते आप बड़ा सोहना
राधा दे नाल सजाया सखियो मेरा बनवारी



aayo sakhio ni mera banwari



Bhajan Lyrics View All

तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥