Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

आओ श्याम जी कन्हैया नंदलाल जी,
मेरे प्राणो से प्यारे गोपाल जी ।

आओ श्याम जी कन्हैया नंदलाल जी,
मेरे प्राणो से प्यारे गोपाल जी ।

दूर देश की रहने वाली, कैसे तुमको पाऊं
कौन सुने या दुखिया मन की, किस को व्यथा सुनाऊँ
मेरे प्राण सावँरे प्रीतम, मैं पल पल आस लगाऊं
कब आवोगे मेरे जीवन साथी, मैं बलिहारी जाऊं
अनजाने में अनजाने को दे बैठी दिल अपना
बेदर्दी बालम, ओ निर्मोही साजन
ना मैं गयी, न वो ही आए, मेरा रहा अधूरा सपना
सवासो की माला पर अब तो नाम साजन का जपना
विरहा ज्योत जगा कर अंतर, प्यारे धीरे धीरे तपना

मैं ठोकरा खांदी फिरदी, तैनू जरा तरस ना आवे
तू कित्थे गया मनमोहन, मैनु केहड़ा गाल नाल लावे
मैनो साद गोकुल दिया साईया, मैं दिंडी फिरां दुहाईआं
तू छड़ दे बेपरवाईआं, तैनू केहड़ा यह समझावे
कोई मिलदा नहीं सहरा, मैनु मिलदा नहीं किनारा
मेरे कित्थे हो गुजरा, मैनु कुछ भी समझ नहीं आवे
बेदर्दी बालम, ओ निर्मोही साजन, ओ हठीले प्रीतम

थोड़ी सी झलक दिखा दो मुझे, क्यों परदे में छिप रहते हो
क्या राज है तेरे छिपने में, कईं छिप कर मुस्काते हो
माना की तुम हो बहुत हसीन, लग जाए ना तुमको नज़र कहीं
हृदय में छिपा लुंगी मोहन, जो दुनिया से शर्माते हो
सुनते हैं तेरे दीवानो से तेरे प्रीत की निराली है
सब कुछ हर लेते हो, इक बार जिसे अपनीते हो
सब शर्ते तेरी मंजूर हमे, अब आवो देर लगाओ न
इस दुखिया दासी विरहन को, तुम क्यों इतना तरसाते हो

सावरिया उमरिया बीत गयी, तुम आए नहीं मम प्रीत सखे
यह रस की गागर बीत गयी, यह रस की गागर बीत गयी
मेरे जीवन के उपवन में तुम कभी कभी तो आए हो
इस बंजर हिय में प्यारे, गहन श्याम घटा बन छाये हो
अब सपना हो गया है प्रीतम, जाने वो क्या बात गयी
अब तो याद तुम्हारी प्यारे, चुपके चुपके आ जाती है
सम्पूर्ण हृदय के अम्बर पर, बदली सी बन छा जाती है
बरस रही है नयन पुतरिया, देखो यह बरसात नयी



aavo shyam ji kanhaiya nand laal ji mere prano se pyare gopal ji by Vindo Agarwal ji



Krishna Bhajans App

Bhajan Lyrics View All

हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥