Share this page on following platforms.
Download Bhajan as .txt File Download Bhajan as IMAGE File

आज ख़ुशी है भारी,
श्याम जन्मा री

आज ख़ुशी है भारी,
श्याम जन्मा री
की शुभ दिन आया है

आज ख़ुशी है भारी,
श्याम जन्मा री
की शुभ दिन आया है

गोकुल की छवि न्यारी
गोकुल की छवि न्यारी
श्याम जन्मा री
की शुभ दिन आया है

आज ख़ुशी है भारी,
श्याम जन्मा री
की शुभ दिन आया है

वंदन वारो तोरण है न्यारे
रंगोली नन्द जी के द्वारे


वंदन वारो तोरण है न्यारे
साजे रंगोली नन्द जी के द्वारे

साज श्रृंगार मनभावन
महक रहा मधुबन
की शुभ दिन आया है

आज ख़ुशी है भारी,
श्याम जन्मा री
की शुभ दिन आया है

सोने चांदी के दीपक जलाओ

सब मिल आओ मंगल गाओ


सोने चांदी के दीपक जलाओ
सब मिल आओ मंगल गाओ

जाये यशोदा बलिहारी
ख़ुशी से मतवारी
की शुभ दिन आया है

आज ख़ुशी है भारी,
श्याम जन्मा री
की शुभ दिन आया है

नन्द के आंगन का है उजाला
वो है उजाला
ब्रज का बनेगा ये रखवाला
ये रखवाला

नन्द के आंगन का है उजाला
ब्रज का बनेगा ये रखवाला

अँखिया है कजरारी,
है चितवन प्यारी
की शुभ दिन आया है

आज ख़ुशी है भारी,
श्याम जन्मा री
की शुभ दिन आया है

गोकुल की छवि न्यारी
गोकुल की छवि न्यारी
श्याम जन्मा री
की शुभ दिन आया है

आज ख़ुशी है भारी,
श्याम जन्मा री
की शुभ दिन आया है

शुभ दिन आया है



aaj khushi hai bhari, shyam janma ri ki shubh din aya hai



Bhajan Lyrics View All

कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा