Share this page on following platforms.

Home Katha Nani Bai Ro Mayro

Nani Bai Ro Mayro - Sarawagi Pariwar 3-10-2014 Day 1

OMS Creations Bikaner ,Churu,Jaipur,Jodhpur,Nagur,Sikar,New Delhi,Amritsar,Mumbai,Kolkata

Nani Bai Ro Mayro 3-10-2014 Disk 1 - Sarawagi Pariwar

Nani Bai Ro Mayro 3-10-2014 Disk 2 - Sarawagi Pariwar

Nani Bai Ro Mayro 3-10-2014 Disk 3 - Sarawagi Pariwar

Nani Bai Ro Mayro 3-10-2014 Disk 4 - Sarawagi Pariwar

Contents of this list:

OMS Creations Bikaner ,Churu,Jaipur,Jodhpur,Nagur,Sikar,New Delhi,Amritsar,Mumbai,Kolkata
Nani Bai Ro Mayro 3-10-2014 Disk 1 - Sarawagi Pariwar
Nani Bai Ro Mayro 3-10-2014 Disk 2 - Sarawagi Pariwar
Nani Bai Ro Mayro 3-10-2014 Disk 3 - Sarawagi Pariwar
Nani Bai Ro Mayro 3-10-2014 Disk 4 - Sarawagi Pariwar

Bhajan Lyrics View All

यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से