Share this page on following platforms.

Home Katha More Katha

Kartik Mahatmya- Kartik Maas Katha- Kartik Vrat Katha

Kartik Maas Katha 1 of 5- Kartik Mahatmya

Kartik Maas Katha 2 of 5- Kartik Mahatmya

Kartik Maas Katha 3 of 5- Kartik Mahatmya

Kartik Maas Katha 4 of 5- Kartik Mahatmya

Kartik Maas Katha 5 of 5- Kartik Mahatmya

Contents of this list:

Kartik Maas Katha 1 of 5- Kartik Mahatmya
Kartik Maas Katha 2 of 5- Kartik Mahatmya
Kartik Maas Katha 3 of 5- Kartik Mahatmya
Kartik Maas Katha 4 of 5- Kartik Mahatmya
Kartik Maas Katha 5 of 5- Kartik Mahatmya

Bhajan Lyrics View All

इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥