Share this page on following platforms.

Home Katha More Katha

Bhagavat Katha in Hindi by HH Radha Govinda Goswami in Haridwar May 2015

Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 1

Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami Day 01

Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami Day 2

Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami Day 2

Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami Day 3

Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 6

Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 5

Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 5

Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 4

Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 3

Contents of this list:

Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 1
Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami Day 01
Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami Day 2
Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami Day 2
Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami Day 3
Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 6
Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 5
Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 5
Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 4
Bhagavat Katha Hindi on Virahini Gopiyo Dvara Krishna Anveshan by HH Radha Govinda Goswami on Day 3

Bhajan Lyrics View All

सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।