Share this page on following platforms.

Home Katha Gopi Geet Katha

Gopi geet katha 1994

Part 3 Day 1 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā

Part 3 Day 2 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā

Part 3 Day 3 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā

Part 3 Day 4 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā

Part 3 Day 5 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā

Part 3 Day 6 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā

Part 3 Day 7 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā

Contents of this list:

Part 3 Day 1 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā
Part 3 Day 2 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā
Part 3 Day 3 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā
Part 3 Day 4 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā
Part 3 Day 5 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā
Part 3 Day 6 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā
Part 3 Day 7 - October 1994 Rām Kathā Mānas Gopī Geet - Kailāsa Gurūkul Mahuvā

Bhajan Lyrics View All

इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे