Share this page on following platforms.

Home Katha Gopi Geet Katha

Bhajan

"Ragupati Raghav Raja Ram" a Bhajan by Hari Om Sharan

Gopi geet in nepali katha nepali vajan

Nepali Vajan Ek Din Ta Jane Ho | Hira Lal Kandel | Taranga Creation

dhun bajyo dhun bajyo pakkai krishna hun

"Ragupati Raghav Raja Ram" a Bhajan by Hari Om Sharan

Krishna bhajana ma lagyo mero man by Nirmal Silwal

Gopi Geet

Om Gan Ganpataye Namo Namah Ganesh Mantra By Hemant Chauhan [Full Song] I Jai Jai Dev Ganesh

Contents of this list:

"Ragupati Raghav Raja Ram" a Bhajan by Hari Om Sharan
Gopi geet in nepali katha nepali vajan
Nepali Vajan Ek Din Ta Jane Ho | Hira Lal Kandel | Taranga Creation
dhun bajyo dhun bajyo pakkai krishna hun
"Ragupati Raghav Raja Ram" a Bhajan by Hari Om Sharan
Krishna bhajana ma lagyo mero man by Nirmal Silwal
krishne makhan chori aaucha, nepali new bhajan, krishna makhan chor
Are dawarpalo lakhbir singh lakha
Gopi Geet
Om Gan Ganpataye Namo Namah Ganesh Mantra By Hemant Chauhan [Full Song] I Jai Jai Dev Ganesh

Bhajan Lyrics View All

तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,