Share this page on following platforms.

Home Gurus Sudhanshu ji

Sudhanshuji Maharaj Bhajan

He Nath ab to, aisi daya ho - Bhajan by Sudhanshuji Maharaj

SANSKAR LIVE - SHRI SUDHANSHU JI MAHARAJ - SATSANG SAMAROH - CROSS MAIDAN, MUMBAI

Sudhanshuji Maharaj Bhajan- Prabhu Mere Jeevan Ko Kundan Bna Do

Sudhanshu ji Maharaj Bhajan Jai shiv shankar jai gangadhar

Sudhanshu ji Maharaj Bhajan Tere dar ko chodkar kis dar

Sudhanshu ji Maharaj Bhajan Naiya padi majhdhar guru bina

Sudhanshuji Maharaj - bhajan- bansi wale batlaa

Sudhanshu Ji Maharaj Bhajan Mang Bande Uss bhagwan se

SUDHANSHUJI MAHARAJ BHAJAN- TERE NAAM KA SIMRAN

RAREST BHAGWATGEETA EXPLANATION BY SUDHANSHU JI MAHARAJ PART 82

Sudhanshu ji maharaj bhajan Satguru ki kirpa hui Ha (2nd may Anand dham New Delhi)

**SUDHANSHUJI MAHARAJ BHAJAN**SAARE JAHAN KE MAALIK(HD QUALITY)

Contents of this list:

He Nath ab to, aisi daya ho - Bhajan by Sudhanshuji Maharaj
SANSKAR LIVE - SHRI SUDHANSHU JI MAHARAJ - SATSANG SAMAROH - CROSS MAIDAN, MUMBAI
Sudhanshuji Maharaj Bhajan- Prabhu Mere Jeevan Ko Kundan Bna Do
Sudhanshu ji Maharaj Bhajan Sharan me aa pada tere prabhu
Sudhanshu ji Maharaj Bhajan Jai shiv shankar jai gangadhar
Sudhanshu ji Maharaj Bhajan Tere dar ko chodkar kis dar
Sudhanshu ji Maharaj Bhajan Bho meri nadiya bho dhire dhire
Sudhanshu ji Maharaj Bhajan Naiya padi majhdhar guru bina
Sudhanshuji Maharaj - bhajan- bansi wale batlaa
Sudhanshu ji Maharaj Bhajan Ae mere satguru pranam
Sudhanshu Ji Maharaj Bhajan Mang Bande Uss bhagwan se
SUDHANSHUJI MAHARAJ BHAJAN- TERE NAAM KA SIMRAN
Sudhanshu ji Maharaj Bhajan RAM TAJON MAIN GURU NA BISARU
RAREST BHAGWATGEETA EXPLANATION BY SUDHANSHU JI MAHARAJ PART 82
Sudhanshu ji Maharaj Bhajan Hum sab milke aye datta tere darbar
Sudhanshu ji Maharaj Bhajan Karo Pyaar Satguru Se Kalayan
Sudhanshu ji Maharaj bhajan Tere Karm Se Beneaz
Sudhanshu ji maharaj bhajan Satguru ki kirpa hui Ha (2nd may Anand dham New Delhi)
Sudhanshu ji Maharaj Bhajan HARIOM HARIOM
Sudhanshu ji Maharaj Bhajan MUJH KO MADHAV KA SAHARA MIL GYA
**SUDHANSHUJI MAHARAJ BHAJAN**SAARE JAHAN KE MAALIK(HD QUALITY)

Bhajan Lyrics View All

कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने