Share this page on following platforms.

Home Gurus Sudhanshu ji

Satguru Sanjeevani by HH Sudhanshuji Maharaj

Satguru Sanjeevani June 2016 : Jeevan mein Anand Finding peace in life Sudhanshu ji Maharaj

Your Inner-strength - Sudhanshu ji Maharaj Satguru Sanjeevani May 2016

Gyan, Wisdom, Knowledge ; HH Sudhanshuji Maharaj ; Sadguru Sanjeevani

Sudhanshuji Maharaj | Satguru Sanjeevani | Strength of the soul | Atmikshakti | April 21, 2016

Sudhanshuji Maharaj | Satguru Sanjeevani | Yagya | April 21, 2016

Sudhanshuji Maharaj | Satguru Sanjeevani | Unity is Strength | Sangathan ki Shakti | April 21, 2016

Sudhanshuji Maharaj | Satguru Sanjeevani | Journey of Life | Jiwan Yatra | April 21, 2016

Sudhanshuji Maharaj | Satguru Sanjeevani | Aim of Life | Jiwan ka lakshya | April 21, 2016

Sadguru Sanjeevni : Guruvar hai Prerna

Contents of this list:

Satguru Sanjeevani June 2016 : Jeevan mein Anand Finding peace in life Sudhanshu ji Maharaj
Your Inner-strength - Sudhanshu ji Maharaj Satguru Sanjeevani May 2016
Gyan, Wisdom, Knowledge ; HH Sudhanshuji Maharaj ; Sadguru Sanjeevani
Sudhanshuji Maharaj | Satguru Sanjeevani | Strength of the soul | Atmikshakti | April 21, 2016
Sudhanshuji Maharaj | Satguru Sanjeevani | Yagya | April 21, 2016
Sudhanshuji Maharaj | Satguru Sanjeevani | Unity is Strength | Sangathan ki Shakti | April 21, 2016
Sudhanshuji Maharaj | Satguru Sanjeevani | Journey of Life | Jiwan Yatra | April 21, 2016
Sudhanshuji Maharaj | Satguru Sanjeevani | Aim of Life | Jiwan ka lakshya | April 21, 2016
Sadguru Sanjeevni : Guruvar hai Prerna

Bhajan Lyrics View All

मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे