Share this page on following platforms.

Home Gurus Sudhanshu ji

Popular Sudhanshu Ji Maharaj & Ashram videos

Bhajan Sandhya from Ananddham Ashram - February 16, 2015

Swami Hari Har ji Maharaj en Geeta Ashram Lima Perú

sudhanshuji maharaj - guru poornima at shiv dham ashram in panchkula part-1

Bramhalok ashram raipur guru purnima2009 param pujya sudhanshuji maharaj

His Holiness Sudhanshuji Maharaj on Sewa

sudhanshuji maharaj - guru poornima at shiv dham ashram in panchkula...... part-3

Joyful Divine Holi 2012 Satsang Part 2

Some Questions, Answered by His Holiness Sudhanshuji Maharaj, at Manali 2012

Joyful Divine Holi 2012 Satsang Part 1

Sudhanshuji Maharaj - Special Message for Diwali on Sharad Purnima

Contents of this list:

Bhajan Sandhya from Ananddham Ashram - February 16, 2015
Swami Hari Har ji Maharaj en Geeta Ashram Lima Perú
sudhanshuji maharaj - guru poornima at shiv dham ashram in panchkula part-1
Bramhalok ashram raipur guru purnima2009 param pujya sudhanshuji maharaj
His Holiness Sudhanshuji Maharaj on Sewa
sudhanshuji maharaj - guru poornima at shiv dham ashram in panchkula...... part-3
Joyful Divine Holi 2012 Satsang Part 2
Some Questions, Answered by His Holiness Sudhanshuji Maharaj, at Manali 2012
Joyful Divine Holi 2012 Satsang Part 1
Sudhanshuji Maharaj - Special Message for Diwali on Sharad Purnima

Bhajan Lyrics View All

राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥