Share this page on following platforms.

Home Gurus Shyam Sundar Ji

Shyam ji

Haath Jod Vinti Karu | (Khatu Shyam Vandana) by Shyam Sundar Sharma -Khatu Shyam

Shyam Tere Hi Bharose Mera Parivaar Hai

Khatushyam Aarti Jai shri shyam Hare

Deleted video

Khatu Shyam Bhajan 2014 - Sanwali Surat Pe Mohan

SHRI KHATU SHYAMJI KI AARTI

SHRI KHATU SHYAMJI KI AARTI

Khatu Shyam Bhajan - Romi - Jai Shri Shyam - Shikha Movies

HAATH UTHA TAALI BAJA TAALI BAJAKE BOL BHAIYA JAI SHREE SHYAM

Jai shri Shyam baba

Beautiful Bhajan: Shri Krishna Govind - Om Namoh Bhagavate Vasudevayah

Contents of this list:

Haath Jod Vinti Karu | (Khatu Shyam Vandana) by Shyam Sundar Sharma -Khatu Shyam
Shyam Tere Hi Bharose Mera Parivaar Hai
Khatushyam Aarti Jai shri shyam Hare
Deleted video
Khatu Shyam Bhajan 2014 - Sanwali Surat Pe Mohan
SHRI KHATU SHYAMJI KI AARTI
SHRI KHATU SHYAMJI KI AARTI
Khatu Shyam Bhajan - Romi - Jai Shri Shyam - Shikha Movies
HAATH UTHA TAALI BAJA TAALI BAJAKE BOL BHAIYA JAI SHREE SHYAM
Jai shri Shyam baba
Beautiful Bhajan: Shri Krishna Govind - Om Namoh Bhagavate Vasudevayah

Bhajan Lyrics View All

हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है