Share this page on following platforms.

Home Gurus Shyam Sundar Ji

Bollywood Movie | Hindi Songs | Sanyasi 1945 | Shamim, Amar, Shyam Sunder | Audio Songs.

Suno Ji Pyari Koyaliya Bole | Sanyasi 1945 | Zohrabai Ambalewali , Amar

Neha Laga Ke Jo Koi Yu Chup Jaye | Sanyasi 1945 | Zohrabai Ambalewali, Amar

O Jane Wale Matwale | Sanyasi 1945 | Zohrabai Ambalewali

Duniya Chadaye Phool | Sanyasi 1945 | Zohrabai Ambalewali

Sanjh Bhayi Ghar Aaya Re | Sanyasi 1945 | Shamim, Amar, Shyam Sunder .

Contents of this list:

Suno Ji Pyari Koyaliya Bole | Sanyasi 1945 | Zohrabai Ambalewali , Amar
Neha Laga Ke Jo Koi Yu Chup Jaye | Sanyasi 1945 | Zohrabai Ambalewali, Amar
O Jane Wale Matwale | Sanyasi 1945 | Zohrabai Ambalewali
Duniya Chadaye Phool | Sanyasi 1945 | Zohrabai Ambalewali
Sanjh Bhayi Ghar Aaya Re | Sanyasi 1945 | Shamim, Amar, Shyam Sunder .

Bhajan Lyrics View All

इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा