Share this page on following platforms.

Home Gurus Shri Shri Ravishankar ji

श्री श्री रविशंकर जी

byte-ravi shankar.wmv

ravishakar- pooja karte.wmv

Ravishankar vindhyachal darshan manoj sharma.wmv

shri shri ravishankar ji maharaj BITE - Desh gulam ..wmv

shri shri ravishankar ji maharaj Bite - Prdhan mantri pad.wmv

shri shri ravishankar ji maharaj Bite - kisano ki dasha.wmv

shri shri ravishankar ji maharaj Bite - kamar kas li hai.wmv

shri shri ravishankar ji maharaj Bite - Dinesh upadhyay.wmv

shri shri ravishankar ji maharaj Bite - Desh ki sampata.wmv

shri shri ravishankar ji maharaj - 1.wmv

Bite - Big boss , Amethi daura.wmv

Contents of this list:

byte-ravi shankar.wmv
ravishakar- pooja karte.wmv
Ravishankar vindhyachal darshan manoj sharma.wmv
shri shri ravishankar ji maharaj BITE - Desh gulam ..wmv
shri shri ravishankar ji maharaj Bite - Prdhan mantri pad.wmv
shri shri ravishankar ji maharaj Bite - kisano ki dasha.wmv
shri shri ravishankar ji maharaj Bite - kamar kas li hai.wmv
shri shri ravishankar ji maharaj Bite - Dinesh upadhyay.wmv
shri shri ravishankar ji maharaj Bite - Desh ki sampata.wmv
shri shri ravishankar ji maharaj - 1.wmv
Bite - Big boss , Amethi daura.wmv

Bhajan Lyrics View All

Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।