Share this page on following platforms.

Home Gurus Sanjeev Krishna Thakur Ji

video

:15 No T-Mobile end card_no artists

MAIN BADHAI GAYU RE MAIYA KE ANGNA BY SHRI SANJEEV KRISHNA THAKUR JI

हे गौरा मत जावे ॥ भाँग घोटन की कहता होगा || भोला धूम मचावे || RAJESH SINGHPURIA

Haryanvi Natak - Ram Mehar Randa - Saadhu Chale Sasural - Haryanavi Comedy 2

Contents of this list:

:15 No T-Mobile end card_no artists
MAIN BADHAI GAYU RE MAIYA KE ANGNA BY SHRI SANJEEV KRISHNA THAKUR JI
हे गौरा मत जावे ॥ भाँग घोटन की कहता होगा || भोला धूम मचावे || RAJESH SINGHPURIA
Haryanvi Natak - Ram Mehar Randa - Saadhu Chale Sasural - Haryanavi Comedy 2

Bhajan Lyrics View All

आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
तुम रूठे रहो मोहन,
हम तुमको मन लेंगे
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,