Share this page on following platforms.

Home Gurus Sanjeev Krishna Thakur Ji

Krisha Astmi

Krishna Astmi 2013 Auckland New Zealand

KRISHNA JANAM KATHA HARIDWAR..BHAISHRI

Krishna Katha Day 01 by H H Bhakti Rasamrita Swami 09th Sept 2012

Krishna Katha Day 02 by H H Bhakti Rasamrita Swami 10th Sept 2012

Krishna Katha Day 03 by H H Bhakti Rasamrita Swami 11th Sept 2012

Krishna Katha Day 04 by H H Bhakti Rasamrita Swami 12th Sept 2012

Krishna Katha Day 05 by H H Bhakti Rasamrita Swami 13th Sept 2012

Astmi 2

Astmi 3

Astmi 4

Astmi 5

Astmi 7

Astmi 8

Jiyo Shyam Lala

JIYO SHYAM LAL PILI TERI PAGDI HAI RANG KALA BY SHRI SANJEEV KRISHNA THAKUR JI

JIYO SHYAM LAL PILI TERI PAGDI HAI RANG KALA BY SHRI SANJEEV KRISHNA THAKUR JI

Mera Kanha Bada Albela | Unrelease | Bhavya Agarwal

Contents of this list:

Krishna Astmi 2013 Auckland New Zealand
KRISHNA JANAM KATHA HARIDWAR..BHAISHRI
Krishna Katha Day 01 by H H Bhakti Rasamrita Swami 09th Sept 2012
Krishna Katha Day 02 by H H Bhakti Rasamrita Swami 10th Sept 2012
Krishna Katha Day 03 by H H Bhakti Rasamrita Swami 11th Sept 2012
Krishna Katha Day 04 by H H Bhakti Rasamrita Swami 12th Sept 2012
Krishna Katha Day 05 by H H Bhakti Rasamrita Swami 13th Sept 2012
Astmi 2
Astmi 3
Astmi 4
Astmi 5
Astmi 7
Astmi 8
Jiyo Shyam Lala
JIYO SHYAM LAL PILI TERI PAGDI HAI RANG KALA BY SHRI SANJEEV KRISHNA THAKUR JI
JIYO SHYAM LAL PILI TERI PAGDI HAI RANG KALA BY SHRI SANJEEV KRISHNA THAKUR JI
Mera Kanha Bada Albela | Unrelease | Bhavya Agarwal

Bhajan Lyrics View All

मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥