Share this page on following platforms.

Home Gurus Chinmayanand Bapu

Hari Bhajan by Shri Chinmayanand Bapu

Contents of this list:

Shri Krishna Govind Hare Murari - Chinmayanand Bapu
Radhe Radhe Shyam se milade - Chinmayanand Bapu
Radha Madhav Nil Mani Re Gopal Muraliya Wale - Chinmayanand Bapu
Khushi de je jamane ko mane har dam rudan de je - Chinmayanand Bapu
In he logo ne le linaha dupata mera - Chinmayanand Bapu
Ab ho gaye bhava ke par le kar nam tera - Chinmayanand Bapu
Bhava sajar ab sukh gayo he - Chinmayanand Bapu
Bhaj Radhe Govinda Re Pagale - Chinmayanand Bapu
Bandau Krishna Chandra Avinashi - Chinmayanand Bapu
Shri Krishna Govind Hare Murari He Natha Narayan Vasu Deva - Chinmayanand Bapu
Sri Krishna Chandra Krupalu - Chinmayanand Bapu
Ram Ram Hare Krishna Krishna Hare - Chinmayanand Bapu
Jyot se Jyot Jala te Chalo Prem ki ganga bahate chalo - Chinmayanand Bapu
Ji se dekhi ye ladkhada ne laga he - Chinmayanand Bapu
Jay Radhe Jay Radhe Bolo Jay Srikrishna Bolo Jay Radhe - Chinmayanand Bapu
Data Teri Rahmat Ki Chinmayanand Bapu Ji
Guruvar Tumhare Pyar Ne Jina Sikha Diya Chinmayanand Bapu Ji
Gopi Geet by Shri Chinmayanand Bapu

Bhajan Lyrics View All

मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा