Share this page on following platforms.

Home Gurus Swami Mukundanand

swami mukundananda songs

Radha Krishna Bhajan- Mere Nandanandana, Apana Bana Le Mohi- Swami Mukundananda

Radhey Radhey Govinda-Jagadguru Shree Kripaluji Maharaj

Teri Kripa Ka Bharosa Bhari

JAGADGURU KRIPALUJI MAHARAJ-Tu hi to hai mora Nandnandan

Balihari Hai Tihari Guru Balihari

Pyari pyari bhori bhari Barsanevari

Aarti of Radha Krishna

Devotional kirtan - Poojniya Raseshwari Devi ji

Bhajo Giridhar govinda gopala

Contents of this list:

Radha Krishna Bhajan- Mere Nandanandana, Apana Bana Le Mohi- Swami Mukundananda
Radhey Radhey Govinda-Jagadguru Shree Kripaluji Maharaj
Teri Kripa Ka Bharosa Bhari
JAGADGURU KRIPALUJI MAHARAJ-Tu hi to hai mora Nandnandan
Balihari Hai Tihari Guru Balihari
Pyari pyari bhori bhari Barsanevari
Aarti of Radha Krishna
Devotional kirtan - Poojniya Raseshwari Devi ji
Bhajo Giridhar govinda gopala

Bhajan Lyrics View All

हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की