Share this page on following platforms.

Home Gurus Swami Mukundanand

Radha Krishna Bhajans & Aarti collection - Swami Mukundananda

Aarti of Radha Krishna [with ENGLISH subtitles]

Aarti of baby Shree Krishna [with ENGLISH subtitles]

Jagadguru Shree Kripaluji Maharaj Aarti [with ENGLISH subtitles]

Shri Ram Chandra Kripalu Bhajman - Lord Ram devotional bhajan song

Shiv Bhajan: Har Har Mahadev Shambho Kashi Vishwanath Gange - Swami Mukundananda

Krishna Bhajan: Hari Hari Bol, Bol Hari Bol, Mukund Madhav Govind Bol - Swami Mukundananda

Radha Krishna Bhajan: Radhey Radhey Bol Shyam Bhagey Chale Ayenge - Swami Mukundananda

Radha Krishna Bhajan- Mere Nandanandana, Apana Bana Le Mohi- Swami Mukundananda

Contents of this list:

Aarti of Radha Krishna [with ENGLISH subtitles]
Aarti of baby Shree Krishna [with ENGLISH subtitles]
Jagadguru Shree Kripaluji Maharaj Aarti [with ENGLISH subtitles]
Shri Ram Chandra Kripalu Bhajman - Lord Ram devotional bhajan song
Shiv Bhajan: Har Har Mahadev Shambho Kashi Vishwanath Gange - Swami Mukundananda
Krishna Bhajan: Hari Hari Bol, Bol Hari Bol, Mukund Madhav Govind Bol - Swami Mukundananda
Radha Krishna Bhajan: Radhey Radhey Bol Shyam Bhagey Chale Ayenge - Swami Mukundananda
Radha Krishna Bhajan- Mere Nandanandana, Apana Bana Le Mohi- Swami Mukundananda

Bhajan Lyrics View All

हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,