Share this page on following platforms.

Home Gurus Sri Thakurji

Priya Kantju Mandir Udghatan || Shri Devkinandan Thakur ji Maharaj

Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj Priya Kantju Udghatn || 8-Feb-2016

Shri Devkinandan Ji Maharaj Priya Kantju Mandir Pran Pratishtha Epi 01

Shri Devkinandan Thakur Ji LIVE || 8-Feb-2016 || Chalo Vrindavan || Guru Purnima Mahotsav

Vishwa Shanti Sewa Charitable Trust || Priyaknt Ju Mandir || Shri Devkinandan Thakur Ji LIVE

Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Priya Kantju Mandir Udghatan || Day 01 || 2016

श्री प्रियाकांतजू || Aradhna Vrindavan || Episode 36 ॥ Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj

Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Priya Kantju Mandir Udghatan Plate 2016

Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj Ditiya Charan Udghatan 30-Nov-2015

Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Katha Pandal Nirman || Priya Kanju Mandir

Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Sabha Greh Udghatan 29-Nov-2015

Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Shri Priya Kantju || Aradhna Vrindavan || Episode 37

Shri Priya Kantju || Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Episode 38 || Aradhna Vrindavan

Aradhna Vrindavan Programme // Episode 39 // Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Shri Priya Kantju

Contents of this list:

Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj Priya Kantju Udghatn || 8-Feb-2016
Shri Devkinandan Ji Maharaj Priya Kantju Mandir Pran Pratishtha Epi 01
Shri Devkinandan Thakur Ji LIVE || 8-Feb-2016 || Chalo Vrindavan || Guru Purnima Mahotsav
Vishwa Shanti Sewa Charitable Trust || Priyaknt Ju Mandir || Shri Devkinandan Thakur Ji LIVE
Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Priya Kantju Mandir Udghatan || Day 01 || 2016
श्री प्रियाकांतजू || Aradhna Vrindavan || Episode 36 ॥ Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj
Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Priya Kantju Mandir Udghatan Plate 2016
Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj Ditiya Charan Udghatan 30-Nov-2015
Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Katha Pandal Nirman || Priya Kanju Mandir
Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Sabha Greh Udghatan 29-Nov-2015
Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Shri Priya Kantju || Aradhna Vrindavan || Episode 37
Shri Priya Kantju || Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Episode 38 || Aradhna Vrindavan
Aradhna Vrindavan Programme // Episode 39 // Shri Devkinandan Thakur Ji Maharaj || Shri Priya Kantju

Bhajan Lyrics View All

राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से