Share this page on following platforms.

Home Gurus Rameshbhaiji Oza ji

Rameshbhai oza bhajans

KOI PIYO RE PYALA RAM RAS KA Ramesh Bhai Ojha Bhajan

Shri Ramesh Bhai oza ji Bhajan - Krishna Tere Naam Per -up. Akhilesh Bilgaiya

RAMESHBHAI OJHA BHAJAN Radha Madhav Neelmani..........

GOPI GEET By PP Rameshbhaiji Oza

Hamaro Dhan Radha by Pujya RameshBhai Oza

BHAJAN (MUJHE DE DARSHAN GIRDHARI RE ) --by Ramesh Bhai Ozha

Hare Krishna Sankirtan by RameshBhai Oza

Contents of this list:

Rameshbhai Oza - Dena Ho To Dijeyee janam Janam
KOI PIYO RE PYALA RAM RAS KA Ramesh Bhai Ojha Bhajan
Shri Ramesh Bhai oza ji Bhajan - Krishna Tere Naam Per -up. Akhilesh Bilgaiya
RAMESHBHAI OJHA BHAJAN Radha Madhav Neelmani..........
He Govind He Gopal - Rameshbhai Ojha
GOPI GEET By PP Rameshbhaiji Oza
Hamaro Dhan Radha by Pujya RameshBhai Oza
BHAJAN (MUJHE DE DARSHAN GIRDHARI RE ) --by Ramesh Bhai Ozha
Deleted video
Hare Krishna Sankirtan by RameshBhai Oza

Bhajan Lyrics View All

सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है