Share this page on following platforms.

Home Gurus Kripaluji

Kripaluji Maharaj Kirtans

Hare Ram Kirtan - Jagadguru Shri Kripaluji Maharaj

Hare Ram - Kirtan with Jagadguru Shree Kripalu Ji Maharaj

Radhey Radhey Govinda-Parikrama Kirtan

Shri Radhey Barsanevari

Topai vari vari pyari Barsanevari

हरे राम - Hare Ram

Radhey Radhey Govinda Bhajo - Kirtan with Shree Kripalu Ji Maharaj

Main To Radhey Radhey Gaon - Kirtan with Jagadguru Shree Kripalu Ji Maharaj

Jayati Guruvar - Kirtan with Jagadguru Shree Kripalu Ji Maharaj

Contents of this list:

Hare Ram Kirtan - Jagadguru Shri Kripaluji Maharaj
Hare Ram - Kirtan with Jagadguru Shree Kripalu Ji Maharaj
Radhey Radhey Govinda-Parikrama Kirtan
Shri Radhey Barsanevari
Topai vari vari pyari Barsanevari
हरे राम - Hare Ram
Radhey Radhey Govinda Bhajo - Kirtan with Shree Kripalu Ji Maharaj
Main To Radhey Radhey Gaon - Kirtan with Jagadguru Shree Kripalu Ji Maharaj
Jayati Guruvar - Kirtan with Jagadguru Shree Kripalu Ji Maharaj

Bhajan Lyrics View All

राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,