Share this page on following platforms.

Home Gurus Kirit Bhaiji

Kirit BhaiJi (ShriNathDham.com)

Teri Chabi Nirali (Kirit BhaiJi)

Shyam Se Milne Ka Bahana (Kirit BhaiJi)

Kunj Ma Biraje (Kirit BhaiJi)

Radha Ke Man Me (Kirit BhaiJi)

Murli Baja Ke Mohana (Kirit BhaiJi)

Mithi Mithi Baje Madhur (Kirit BhaiJi)

Holiya Me Ude Gulal (Kirit BhaiJi)

Ganesh Vandana (Kirit BhaiJi)

Tara Hai Sara Zamana (Kirit BhaiJi)

Mithi Mithi Madhur Muralia (Kirit BhaiJi)

Jhulelal Jhulelal (Kirit BhaiJi)

Do Gaz Kafan Ka Tukda (Kirit BhaiJi)

Contents of this list:

Teri Chabi Nirali (Kirit BhaiJi)
Shyam Se Milne Ka Bahana (Kirit BhaiJi)
Kunj Ma Biraje (Kirit BhaiJi)
Radha Ke Man Me (Kirit BhaiJi)
Murli Baja Ke Mohana (Kirit BhaiJi)
Mithi Mithi Baje Madhur (Kirit BhaiJi)
Holiya Me Ude Gulal (Kirit BhaiJi)
Ganesh Vandana (Kirit BhaiJi)
Tara Hai Sara Zamana (Kirit BhaiJi)
Mithi Mithi Madhur Muralia (Kirit BhaiJi)
Jhulelal Jhulelal (Kirit BhaiJi)
Do Gaz Kafan Ka Tukda (Kirit BhaiJi)

Bhajan Lyrics View All

साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला