Share this page on following platforms.

Home Gurus Kirit Bhaiji

Kirit BhaiJi's Pravachan

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day3 - Part4.

Shri Kirit Bhaiji pravachan Day3 - Part5.

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day3 - Part3.

Shri Kirit Bhaiji pravachan Day3 - Part2.

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day3 - Part1.

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day2 - Part5.

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day2 - Part4.

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day2 - Part3.

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day2 - Part2

Shri Kirit Bhaiji pravachan Day2 - Part1.

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Grihastha Ashram P5

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Grihastha Ashram P4

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Grihastha Ashram P3

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Grihastha Ashram P2

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Grihastha Ashram

En Flænge i Himlen | Officiel trailer | Danmark

Contents of this list:

Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day3 - Part4.
Shri Kirit Bhaiji pravachan Day3 - Part5.
Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day3 - Part3.
Shri Kirit Bhaiji pravachan Day3 - Part2.
Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day3 - Part1.
Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day2 - Part5.
Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day2 - Part4.
Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day2 - Part3.
Shri Kirit Bhaiji pravachan - Day2 - Part2
Shri Kirit Bhaiji pravachan Day2 - Part1.
Shri Kirit Bhaiji pravachan - Grihastha Ashram P5
Shri Kirit Bhaiji pravachan - Grihastha Ashram P4
Shri Kirit Bhaiji pravachan - Grihastha Ashram P3
Shri Kirit Bhaiji pravachan - Grihastha Ashram P2
Shri Kirit Bhaiji pravachan - Grihastha Ashram
En Flænge i Himlen | Officiel trailer | Danmark

Bhajan Lyrics View All

तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
ना मैं मीरा ना मैं राधा,
फिर भी श्याम को पाना है ।
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही