Share this page on following platforms.

Home Gurus Ravinandan shastri ji

thakur i or radhe rani ji

prince ludhiana wale live mahajan delhi

prince ludhiana wale live mahajan delhi

kurban kyu na jau ...... radha krishna bhajan.....ravinandan shastri ji.mp4

kurban kyu na jau ...... radha krishna bhajan.....ravinandan shastri ji.mp4

kurban kyu na jau ...... radha krishna bhajan.....ravinandan shastri ji.mp4

Deleted video

Deleted video

Deleted video

sri ravinandan shastri ji part 1monuphagwara 9815204452.mpg

Ravinandan shastriji (kirtan) 2

Radhey Radhey 17012005 002

Ravinandan Shastri Ji

Ravinandan Shastri Ji

Ravinandan Shastri Ji

Ravinandan Shastri Ji

Ravinandan Shastri Ji

Ganga Sagar 4

Ravinandan Shastri Ji

Ravinandan Shastri Ji

Contents of this list:

prince ludhiana wale live mahajan delhi
prince ludhiana wale live mahajan delhi
kurban kyu na jau ...... radha krishna bhajan.....ravinandan shastri ji.mp4
kurban kyu na jau ...... radha krishna bhajan.....ravinandan shastri ji.mp4
kurban kyu na jau ...... radha krishna bhajan.....ravinandan shastri ji.mp4
Deleted video
Deleted video
Deleted video
sri ravinandan shastri ji part 1monuphagwara 9815204452.mpg
Ravinandan shastriji (kirtan) 2
Radhey Radhey 17012005 002
Ravinandan Shastri Ji
Ravinandan Shastri Ji
Ravinandan Shastri Ji
Ravinandan Shastri Ji
Ravinandan Shastri Ji
Ganga Sagar 4
Ravinandan Shastri Ji
Ravinandan Shastri Ji

Bhajan Lyrics View All

बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
नी मैं दूध काहे नाल रिडका चाटी चो
लै गया नन्द किशोर लै गया,
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥