Share this page on following platforms.

Home Gurus Ravinandan shastri ji

Ravinandan g

LADLI.MPG

chale jayenge bihari ji sri ravi nandan shastri ji maharaj

ina akhiyan cha mohan sri ravi nandan shastri ji maharaj ji

kive mukhde ton nazra hatanva sri ravi nandan shastri ji maharaj

bigda naseeb SRI RAVI NANDAN SHASTRI JI MAHARAJ

man chal varindavan chaliye

arey o kanha sri ravi nandan shastri ji maharaja

Shri Radha Krishna Ji Maharaj - Ye to bata do barsaane waali

Top 10 Bhajans of Radha Krishna || Shyam Teri Bansi || Yashomati Maiya Se Bole Nandlala

Contents of this list:

LADLI.MPG
chale jayenge bihari ji sri ravi nandan shastri ji maharaj
ina akhiyan cha mohan sri ravi nandan shastri ji maharaj ji
kive mukhde ton nazra hatanva sri ravi nandan shastri ji maharaj
bigda naseeb SRI RAVI NANDAN SHASTRI JI MAHARAJ
man chal varindavan chaliye
arey o kanha sri ravi nandan shastri ji maharaja
Shri Radha Krishna Ji Maharaj - Ye to bata do barsaane waali
Top 10 Bhajans of Radha Krishna || Shyam Teri Bansi || Yashomati Maiya Se Bole Nandlala

Bhajan Lyrics View All

किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
जीवन खतम हुआ तो जीने का ढंग आया
जब शमा बुझ गयी तो महफ़िल में रंग आया
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
यशोमती मैया से बोले नंदलाला,
राधा क्यूँ गोरी, मैं क्यूँ काला
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की