Share this page on following platforms.

Home Gurus Ravinandan shastri ji

Ravinandan g

LADLI.MPG

chale jayenge bihari ji sri ravi nandan shastri ji maharaj

ina akhiyan cha mohan sri ravi nandan shastri ji maharaj ji

kive mukhde ton nazra hatanva sri ravi nandan shastri ji maharaj

bigda naseeb SRI RAVI NANDAN SHASTRI JI MAHARAJ

man chal varindavan chaliye

arey o kanha sri ravi nandan shastri ji maharaja

Shri Radha Krishna Ji Maharaj - Ye to bata do barsaane waali

Top 10 Bhajans of Radha Krishna || Shyam Teri Bansi || Yashomati Maiya Se Bole Nandlala

Contents of this list:

LADLI.MPG
chale jayenge bihari ji sri ravi nandan shastri ji maharaj
ina akhiyan cha mohan sri ravi nandan shastri ji maharaj ji
kive mukhde ton nazra hatanva sri ravi nandan shastri ji maharaj
bigda naseeb SRI RAVI NANDAN SHASTRI JI MAHARAJ
man chal varindavan chaliye
arey o kanha sri ravi nandan shastri ji maharaja
Shri Radha Krishna Ji Maharaj - Ye to bata do barsaane waali
Top 10 Bhajans of Radha Krishna || Shyam Teri Bansi || Yashomati Maiya Se Bole Nandlala

Bhajan Lyrics View All

जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
प्रीतम बोलो कब आओगे॥
बालम बोलो कब आओगे॥
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है