Share this page on following platforms.

Home Gurus Pundarik ji

VINOD AGGARWAL

Live : Bhajan Sandhya by Vinod Agarwal

Radhe Radhe Radhe Prem Agade (Bhajan) -Vinod Agarwalji

Kanhaiya Ko Ek RoJ Roo Kar Pukara (Bhajan) - Vinod Agarwalji

Bhajan Sandhya - Vinod Agarwal (Hindu Temple Irvine California - USA)

Bhajan Sandhya - Vinod Agarwal (Laxmi Narayan Mandir Riverside California, USA)

Shrimad Bhagwad Katha - Pundrik Ji Maharaj - Day 2

He Govind Bhajan By Vinod Agarwal ( Punjab )

Sawariya Girdhari Bhajan By Vinod Agarwal - Punjab

Gopal Sahara Tera Hai Bhajan by Vinod Agarwal - Punjab

SAWARIYAAN MAN...(BHAJAN)

JHULA PANDIYO RI KADAM KI DAL...(BHAJAN)

JAY JAY RADHA RANI...(BHAJAN)

MERI LADO KA NAAM...(BHAJAN)

JAY JAY RADHA RANI...(BHAJAN)

MERA SAWARA SALONA GIRDHARI

MERE BAKE BIHARI NIKUNJ...(BHAJAN)

Contents of this list:

Live : Bhajan Sandhya by Vinod Agarwal
Radhe Radhe Radhe Prem Agade (Bhajan) -Vinod Agarwalji
Kanhaiya Ko Ek RoJ Roo Kar Pukara (Bhajan) - Vinod Agarwalji
Bhajan Sandhya - Vinod Agarwal (Hindu Temple Irvine California - USA)
Bhajan Sandhya - Vinod Agarwal (Laxmi Narayan Mandir Riverside California, USA)
Shrimad Bhagwad Katha - Pundrik Ji Maharaj - Day 2
He Govind Bhajan By Vinod Agarwal ( Punjab )
Sawariya Girdhari Bhajan By Vinod Agarwal - Punjab
Gopal Sahara Tera Hai Bhajan by Vinod Agarwal - Punjab
SAWARIYAAN MAN...(BHAJAN)
JHULA PANDIYO RI KADAM KI DAL...(BHAJAN)
JAY JAY RADHA RANI...(BHAJAN)
MERI LADO KA NAAM...(BHAJAN)
JAY JAY RADHA RANI...(BHAJAN)
MERA SAWARA SALONA GIRDHARI
MERE BAKE BIHARI NIKUNJ...(BHAJAN)

Bhajan Lyrics View All

एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
दिल लूटके ले गया नी सहेलियो मेरा
मैं तक्दी रह गयी नी सहेलियो लगदा
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
वृदावन जाने को जी चाहता है,
राधे राधे गाने को जी चाहता है,
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
अच्युतम केशवं राम नारायणं,
कृष्ण दमोधराम वासुदेवं हरिं,
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।