Share this page on following platforms.

Home Gurus Pundarik ji

श्रीमद्‌भागवत कथा - पुण्डरीक गोस्वामी जी

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 1

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 2

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 3

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 4

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 5

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 6

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 7

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 8

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 9

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 10

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 11

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 12

Contents of this list:

Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 1
Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 2
Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 3
Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 4
Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 5
Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 6
Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 7
Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 8
Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 9
Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 10
Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 11
Shrimad Bhagwat Katha - Pundrik Goswami Ji || Episode 12

Bhajan Lyrics View All

हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
राधिका गोरी से ब्रिज की छोरी से ,
मैया करादे मेरो ब्याह,
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
मुझे चढ़ गया राधा रंग रंग, मुझे चढ़
श्री राधा नाम का रंग रंग, श्री राधा
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया