Share this page on following platforms.

Home Gurus Avdheshanand Giriji

श्रीमद्भागवत कथा - अवधेशानंद गिरि जी ॥ उज्जैन (मध्य प्रदेश)

LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - 12 May 2016 || Day 1

LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - 13 May 2016 || Day 2

LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - 14 May 2016 || Day 3

LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - 16 May 2016 || Day 5

LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - 17 May 2016 || Day 6

LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - May 2016 || Day 7

Contents of this list:

LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - 12 May 2016 || Day 1
LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - 13 May 2016 || Day 2
LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - 14 May 2016 || Day 3
LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - 16 May 2016 || Day 5
LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - 17 May 2016 || Day 6
LIVE - Shrimad Bhagwat Katha by Shri Avdheshanand Giri Ji - May 2016 || Day 7

Bhajan Lyrics View All

सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
कान्हा की दीवानी बन जाउंगी,
दीवानी बन जाउंगी मस्तानी बन जाउंगी,
बोल कान्हा बोल गलत काम कैसे हो गया,
बिना शादी के तू राधे श्याम कैसे हो
हम प्रेम दीवानी हैं, वो प्रेम दीवाना।
ऐ उधो हमे ज्ञान की पोथी ना सुनाना॥
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
मुझे चाहिए बस सहारा तुम्हारा,
के नैनों में गोविन्द नज़ारा तुम्हार
फूलों में सज रहे हैं, श्री वृन्दावन
और संग में सज रही है वृषभानु की
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
हे राम, हे राम, हे राम, हे राम
जग में साचे तेरो नाम । हे राम...
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
ज़री की पगड़ी बाँधे, सुंदर आँखों वाला,
कितना सुंदर लागे बिहारी कितना लागे
मेरी विनती यही है राधा रानी, कृपा
मुझे तेरा ही सहारा महारानी, चरणों से
श्री राधा हमारी गोरी गोरी, के नवल
यो तो कालो नहीं है मतवारो, जगत उज्य
सांवरिया है सेठ ,मेरी राधा जी सेठानी
यह तो सारी दुनिया जाने है
मीठे रस से भरी रे, राधा रानी लागे,
मने कारो कारो जमुनाजी रो पानी लागे
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
राधे राधे बोल, राधे राधे बोल,
बरसाने मे दोल, के मुख से राधे राधे बोल,
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
करदो करदो बेडा पार, राधे अलबेली सरकार।
राधे अलबेली सरकार, राधे अलबेली
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
बृज के नन्द लाला राधा के सांवरिया
सभी दुख: दूर हुए जब तेरा नाम लिया
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
प्रभु कर कृपा पावँरी दीन्हि
सादर भारत शीश धरी लीन्ही