Share this page on following platforms.

Home Gurus Avdheshanand Giriji

Avdheshanand Giri Ji

Swami Avdheshanand Giri Maharaj Pravachan Mala - part 1

avdeshanand

Deleted video

avni

Life is Precious

Jai Jai Vithhal Vithhal Vithala

Life Management

How to be great.mp4

Five Rules for Best Life.mp4

Art of Talking.mp4

Avoid Lazyness.mp4

Right Wishdom.mp4

Cause of Sorrow

Life is Precious

Patan ke Karan

How to be great.mp4

Cause of Sorrow

Cause of unhappiness

Sadhna-needs Countinuty for Sucess

Discourse By Swami Avdheshanand Giriji at Chitrakoot

Avoid Self Praise

Save Girl Child

avdeshanand giri

Contents of this list:

Swami Avdheshanand Giri Maharaj Pravachan Mala - part 1
avdeshanand
Deleted video
avni
Life is Precious
Jai Jai Vithhal Vithhal Vithala
Life Management
How to be great.mp4
Five Rules for Best Life.mp4
Art of Talking.mp4
Avoid Lazyness.mp4
Right Wishdom.mp4
Cause of Sorrow
Life is Precious
Patan ke Karan
How to be great.mp4
Cause of Sorrow
Cause of unhappiness
Sadhna-needs Countinuty for Sucess
Discourse By Swami Avdheshanand Giriji at Chitrakoot
Avoid Self Praise
Save Girl Child
avdeshanand giri

Bhajan Lyrics View All

हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
राधा ढूंढ रही किसी ने मेरा श्याम देखा
श्याम देखा घनश्याम देखा
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
मन चल वृंदावन धाम, रटेंगे राधे राधे
मिलेंगे कुंज बिहारी, ओढ़ के कांबल
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
सारी दुनियां है दीवानी, राधा रानी आप
कौन है, जिस पर नहीं है, मेहरबानी आप की
कोई कहे गोविंदा कोई गोपाला,
मैं तो कहूँ सांवरिया बांसुरी वाला ।
सब के संकट दूर करेगी, यह बरसाने वाली,
बजाओ राधा नाम की ताली ।
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
मेरी करुणामयी सरकार, मिला दो ठाकुर से
कृपा करो भानु दुलारी, श्री राधे
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
दिल की हर धड़कन से तेरा नाम निकलता है
तेरे दर्शन को मोहन तेरा दास तरसता है
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
कहना कहना आन पड़ी मैं तेरे द्वार ।
मुझे चाकर समझ निहार ॥