Share this page on following platforms.

Home Bhajans Mata ki bhetein

तेरी मूर्ती नई बोलदी बुलाया लख्ख वार - teri mootri nai boldi bulaya lakh waar

Contents of this list:


तेरी मूर्ती नई बोलदी बुलाया लख्ख वार
कद्दे हो के दयाल कर साडा वी ख्याल
तेनु दुखड़ा मै दातिये सुनाया लख वार

नित्त बुहा ऐहो सोच के मै मल्लां दातिये
कद्दे माँ -पुत्त करांगे नी गल्लां दातिये
होर्र सारेयां नु सुख दिते वंड माये नी
पादे साडे वी तू कालजे -च ठण्ड माये नी
साड़ी सुन के पुकार क्यों तू बेठी चुप -तार
तेरी मूर्ती नई बोलदी ..

बोल मिठे -मिठे बोल माये गुस्सा जाणदे
चुन्नी गोटे वाली भगतां दे सिरे तान दे
दिल माँ दा जेय बच्च्याँ तो दूर रहेगा
फिर आसरा , बे-आसरे नु कोण देवेगा
क्यों हो के दयावान एदर कीता ना ध्यान
बड़ी आस रख मै तेयेते आया लख वार
तेरी मूर्ती नई बोलदी ..

एनां करमां दे मारेयाँ नु तू वी मार ना
कम्म हुंदा ऐ मल्लावां दा ते ..बढ़े तार्रना
तेरे ज्ररा जे इशारे दी ऐ गल्ल दातिये
सारी मुश्किलां ने हो जाणा हल दातिये
छेती हो जा तू प्रस्न ,साडी विनती तू मन
पाकेय निर्दोष त्र्रले मनाया लख वार
तेरी मूर्ती नई बोलदी ..
तेरी मूर्ती नई बोलदी ..

Bhajan Lyrics View All

लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
मेरा यार यशुदा कुंवर हो चूका है
वो दिल हो चूका है जिगर हो चूका है
ज़िंदगी मे हज़ारो का मेला जुड़ा
हंस जब जब उड़ा तब अकेला उड़ा
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
श्यामा प्यारी मेरे साथ हैं,
फिर डरने की क्या बात है
ਮੇਰੇ ਕਰਮਾਂ ਵੱਲ ਨਾ ਵੇਖਿਓ ਜੀ,
ਕਰਮਾਂ ਤੋਂ ਸ਼ਾਰਮਾਈ ਹੋਈ ਆਂ
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
जिनको जिनको सेठ बनाया वो क्या
उनसे तो प्यार है हमसे तकरार है ।
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
सावरे से मिलने का सत्संग ही बहाना है ।
सारे दुःख दूर हुए, दिल बना दीवाना है ।
मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
हर पल तेरे साथ मैं रहता हूँ,
डरने की क्या बात? जब मैं बैठा हूँ
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
तेरी मंद मंद मुस्कनिया पे ,बलिहार
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
राधे राधे बोल, श्याम भागे चले आयंगे।
एक बार आ गए तो कबू नहीं जायेंगे ॥
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
श्यामा तेरे चरणों की गर धूल जो मिल
सच कहता हूँ मेरी तकदीर बदल जाए॥
हर साँस में हो सुमिरन तेरा,
यूँ बीत जाये जीवन मेरा
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
हो मेरी लाडो का नाम श्री राधा
श्री राधा श्री राधा, श्री राधा श्री
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
हम हाथ उठाकर कह देंगे हम हो गये राधा
राधा राधा राधा राधा
लाली की सुनके मैं आयी
कीरत मैया दे दे बधाई
कैसे जीऊं मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही न लगे श्यामा तेरे बिना
आँखों को इंतज़ार है सरकार आपका
ना जाने होगा कब हमें दीदार आपका
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं